प्रकृति का अद्भुत नजारा, देखिए 1542 फीट ऊंचा पानी का उल्टा झरना

समाचार

दुनिया भर के लोग अक्सर खूबसूरत झरने देखने न जाने कहां-कहां जाते हैं. उन्हें यही दिखाई पड़ता है किसी खूबसूरत वादियों में एक सफेद सा झरना बहुत ऊंचाई से ऊपर से नीचे गिर रहा है।

लेकिन एक हाल ही में एक ट्वीट आया जिसमें दिखाई पड़ रहा है कि पानी का झरना उल्टा बह रहा है यानी पानी ऊपर से नीचे नहीं, नीचे से ऊपर जा रहा है. वह भी धरती की गुरुत्वाकर्षण शक्ति की विपरीत. ये अद्भुत प्राकृतिक नजारा हमेशा देखने को नहीं मिलता. आइए जानते हैं इस उल्टे झरने के बारे में…

ये उल्टा झरना देखा गया डेनमार्क के फैरो आइलैंड (Faroe Island) के समुद्री तट पर दिखाई दे रहा है कि यहां मौसम काफी खराब है. समुद्र में ऊंची-ऊंची लहरे उठ रहीं हैं. इसी बीच एक क्लिफ (समुद्र के किनारे पत्थर से बनी ऊंचाई वाली जगह) के किनारे से सफेद रंग की धार ऊपर उठती दिखाई देती है. जो धीमे-धीमे क्लिफ के ऊपर जाती है।

41 साल के सैमी जैकबसन ने ये फोटो ली है,जो फैरो आइलैंड के सुओरॉय के बेनीसुवोरो क्लिफ के पास समुद्र के नजारा देखने के गए थे. तभी उन्हें ये अद्भुत नजारा देखने को मिला और उन्होंने इसे कैमरे में कैद कर लिया।

बेनीसुवोरो क्लिफ 470 मीटर (करीब 1542 फीट) ऊंचा है. यह उल्टा झरना समुद्र से उठकर 1542 फीट ऊंचे क्लिफ के ऊपर जाते दिखाई दे रहा है.  इनसे जुड़ा वीडियो भी वायरल हुआ हैं,यह वीडियो करीब 26 सेकंड का है लेकिन इस 26 सेकंड में ही प्रकृति के इस अद्भुत नजारे और ताकत का पता चल जाता है.

विज्ञान की भाषा में इसे वाटर स्पाउट (जलस्तंभ) कहते हैं. यह तब बनता है जब पानी सी वॉर्टेक्स (Sea Vortex) यानी समुद्री भंवर में फंसकर ऊपर उठने लगता है. ये ऐसा ही होता है जैसे टॉरनैडो (बवंडर) में फंसकर चीजें ऊपर उठने लगती हैं. जब तक समुद्री भंवर बनता रहेगा तब तक पानी नीचे से ऊठकर ऊपर जाता रहेगा।

यूरोपीय मौसम विभाग के वैज्ञानिक ग्रेग ड्यूहस्ट ने बताया कि यह एक बवंडर था जो पानी के ऊपर बनता है. इसीलिए यह तेजी से बनता है और जल्दी ही खत्म हो जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *